स्वामी विवेकानंद की प्रेरक जीवनी

  • विनय कुमार बाथम प्रवक्ता, वाणिज्य विभाग, दुर्गा नारायण महाविधालय फतेहगढ (फर्रूखाबाद)

Abstract

एक युवा संन्यासी के रूप में भारतीय संस्कृति की सुगंध विदेशों में बिखेरने वाले स्वामी विवेकानंद साहित्स, दर्शन और इतिहास के प्रकाण्ड विदृान थे। स्वामी विवेकानंद ने ‘योग‘ ’राजयोग’ तथा ‘ ज्ञानयोग जैसे ग्रंथो की रचना करके युवाा जगत को एक नई राह दिखाई है जिसका प्रभाव जनमानस पर युगों-युगों तक छाया रहेगा। कन्याकुमारी में निर्मित उनका स्मारक आज भी स्वामी विवेकानंद महानता की कहानी कर रहा।
नाम - नरेंन्द्रनाथ विश्वनाथ दत्त
जन्म - 12 जनवरी 1863
जन्मस्थान - कलकत्ता प. बंगाल
पिता - विश्वनाथ दत्त
माता - भुवनेश्वरी देवी
शिक्षा - 1884 में बी.ए.परीक्षा उत्तीर्ण
विवाह - विवाह नहीं किया.

Downloads

Download data is not yet available.
Published
2018-04-11
Section
Articles